Saturday, February 8, 2020

Health Benefits of Cranberries in hindi | क्रेनबेरी इन हिंदी

Cranberries in hindi


हैल्लो दोस्तो,
आज की इस पोस्ट में हम आपको क्रेनबेरी के फायदे और नुकसान के बारे मे विस्तार से बताने वाले है। साथ ही हम आपको इसको सही तरीके से सेवन करने के तरीके बताएंगे।
क्रेनबेरी भारत मे प्राचीन काल से इस्तेमाल की जाती है, और कई राज्यो में जैसे राजस्थान, मध्यप्रदेश में क्रेनबेरी का इस्तेमाल अचार में किया जाता है और इसका अचार काफी पसंद भी किया जाता है। क्योंकि क्रैनबेरी को औषधीय गुणों वाला मन जाता है और इसका उत्पादप भारत मे काम मात्रा में किया जाता ह इसीलिए यह बाजार में काफी महंगे दाम में बिकता है। आइये क्रेनबेरी के बारे में विस्तार से जानते है।

यह भी पढ़े 



क्रैनबेरी  का अर्थ - Cranberry meaning in hindi

Cranberry को हिंदी में करौंदा या करूंदा कहते है। यह मूल रूप से उत्तरी अमेरिका से संबंधित है।

क्रैनबेरी के पोषक- Cranberry Nutrients in hindi 

क्रैनबेरी या करोंदा पोषक तत्वों से भरपूर है इसमें कई विटामिन्स पाए जाते है। इसीलिए क्रेनबेरी के सेवन से आपकी विटामिन्स की जरूरत काफी हद तक पूरी हो जाती है।क्रैनबेरी के सेवन से आप जवान बने रहते है, क्रैनबेरी में बहुत अच्छी मात्रा में एंटीऑक्सीडेंट्स पाए जाते है जो कि आपके शरीर को बढ़ती उम्र के प्रभाव से लड़ने में मदद करते है।

क्रैनबेरी के फायदे - Cranberry benefits in hindi  

क्रैनबेरी के फायदे किसी और सुपरफूड से काफी ज्यादा है। क्रैनबेरी के कथित फायदों की बात करे तो वे इतने है कि एक पोस्ट में लिखना मुमकिन नही होगा। भारत मे लोग काफी परेशानियों के लिए करोंदे को फायदेमंद मानते है लेकिन इनका पर्याप्त साइंटिफिक प्रमाण न होने की वजह से हमने उन्हें इस पोस्ट में शामिल नही किया है।

दिमाग तेज करता है

क्रैनबेरी या करोंदा में पाए जाने वाले एंटीऑक्सीडेंट्स दिमाग तेज करते है साथ ही करोंदा आपकी याददाश्त को दुरुस्त करता है। मस्तिष्क संबंधी कई सारी समस्याओं में क्रैनबेरी के सेवन से आराम मिलता है। क्रैनबेरी का सेवन कंपाउंड मेमोरी को अच्छा करने में फायदा कर सकता है।

हृदय को स्वस्थ रखता है

क्रैनबेरी के नियमित सेवन से शरीर मे HDL cholesterol(अच्छा कोलेस्ट्रोल) का स्तर बढ़ता है। जिससे हार्ट अटैक और स्ट्रोक जैसी प्राणगाती बीमारियो के होने की संभावना काफी कम हो जाती है। इसके साथ ही क्रैनबेरी के सेवन से रक्त पतला होता है और ब्लड प्रेशर कम रहता है जिससे सभी प्रकार की हृदय संबंधी बीमारियों के होने का खतरा कम हो जाता है।

त्वचा के लिए अच्छा है

क्रेनबीरी में पाए जाने वाले एंटीऑक्सीडेंट्स त्वचा के लिए इतने फायदेमंद है कि अगर आप नियमित रूप से इसका सेवन करे तो आपको और कोई कॉस्मेटिक इस्तेमाल करने की जरूरत नही पड़ेगी। क्रैनबेरी के उपयोग से न केवल आपकी त्वचा में दमक आती है पर साथ ही उम्र के साथ आने वाले बदलावों को भी यह रोकता है जैसे कि जुररिया और महीन रेखाएं। अगर आप लम्बे समय तक जवान और आकर्षक त्वचा चाहते है तो आज से ही क्रैनबेरी का इस्तेमाल शुरू करदे।

यूरिनरी ट्रैक्ट इन्फेक्शन को ठीक करता है

Cranberry in hindi

रिसर्च में ऐसा पाया गया है की क्रैनबेरी के इस्तेमाल से मूत्र मार्ग के सभी प्रकार के संक्रमण ठीक होते है। अगर आपको मूत्र मार्ग संबंधी कोई परेशानी है जैसे जलन तो आप क्रैनबेरी का उपयोग करके देखे इससे आपको आराम मिल सकता है। लेकिन हम आपको यह सलाह देंगे कि इसका इस्तेमाल आप संक्रमण से बचने के लिए करे न कि उसके इलाज के तौर पर। ज्यादा तकलीफ होने पर आप चिकित्सक की सलाह ले।

कैंसर से लड़ता है 

क्रैनबेरी या करोंदा कैंसर होने की संभावना को कम करता है। रिसर्च में ऐसा पाया गया है कि क्रैनबेरी के इस्तेमाल से कैंसर का शरीर मे फैलाना बाधित हो जाता है। आज के समय मे भारत मे कैंसर काफी बड़ी समस्या बनती जा रही है और इसके इलाज में लगाने वाला खर्च इतना है कि एक मध्यम और निम्न वर्ग का इंसान उसे नही जेल सकता। इसीलिए ऐसी कोई बीमारी को होने से पहले ही बचाव करना चाहिए। क्रैनबेरी आपके लिए एक ऐसा ही बचाव बन सकती है।

वेट लॉस करता  है

अगर आप मोटापे से जूझ रहे है तो आप जानते होंगे कि वेट लॉस करना कितना मुश्किल है। ऐसा कहा जाता है कि मोटापा सभी बीमारियों की जड़ है। क्रैनबेरी या करोंदे में पाए जाने वाले विशेष प्रकार के एंटीऑक्सीडेंट reservertol को वजन गटाने में बहुत ही कारगर मन जाता है। साथ ही क्रैनबेरी फाइबर से भरपूर होती है जो भी वजन गटाने में बहुत ही मददगार साबित होते है। इसीके साथ क्रैनबेरी अमाशय में पाए जाने वाले अच्छे शुक्ष्मजीवो को बढ़ाती है और बुरे शुक्ष्मजीवो को मारती है जिससे कि पाचन अच्छा होता है और तोंद कम होती है। इसीलिए अगर आप भी वजन कम करना चाहते है तो कसरत के साथ क्रैनबेरी का सेवन भी नियमित रूप से करे।

रोगप्रतिरोधक क्षमता ठीक करता  है

क्रेनबेरी में कई प्रकार के विटामिन्स पाए जाते है जो कि आपकी रोगों से लड़ने की शक्ति यानी रोगप्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने में सहायक साबित होते है। अगर आप भी जल्दी मौसम के बदलाव से प्रभावित हो जाते है तो आपको क्रैनबेरी का सेवन शुरू कर देना चाहिए। यह आपको न सिर्फ मौसमी बीमारियों से बचाएगा पर साथ ही लंबे समय के लिए आपकी रोगप्रतिरोधक क्षमता को दुरुस्त करेगा।

मसूड़ो को स्वस्थ रखता है

क्रेनबेरी में पाए जाने वाले एंटीऑक्सीडेंट्स मसूड़ो में होने वाली सूजन को कम करता है। साथ ही क्रैनबेरी में रोगाणुरोधी गुण होते है जो कि दांतो में बैक्टेरिया की बढ़ोतरी को होने से रोकता है और बैक्टेरिया को दांतों से चिपकने नही देते। जिससे आपके मसूडे बहुत स्वस्थ हो जाते है।

Side effects of cranberry

Cranberry in hindi meaning

  1. दोस्तो अगर एस्प्रिन से एलर्जी है तो आप क्रेनबीरी का सेवन बिलकल भी ना करे। क्रैनबेरी में सैलिसिलिक एसिड होता है जो कि शरीर मे एस्प्रिन की तरह ही काम करता है और अगर आपको एस्प्रिन से एलर्जी है तो क्रैनबेरी के सेवन से भी आपको एलर्जी के लक्षण हो सकते है।
  2. साथ ही गर्भवती महिलाएं या स्तनपान करवा रही महिलाए भी करोंदे के ज्यादा इस्तेमाल से बचे।
  3. अगर आपको या आपके परिवार में किसी को किडनी स्टोन का इतिहास है तो आपको क्रैनबेरी के ज्यादा इस्तेमाल से बचना चाहिए।

निष्कर्ष

दोस्तो इस पोस्ट में आपने क्रैनबेरी के फायदे और नुकसान के बारे में विस्तार में पढ़ा। तो हम आपको यही सलाह देते है कि आप नियमित रूप से करोंदे का सेवन करे जिससे आपके स्वास्थ्य में काफी सुधार होगा और साथ ही आपको कई रोगों से लड़ने की शक्ति भी मिलेगी।
क्रेनबेरी को आप जूस, अचार, सब्जी तथा जाम के रूप में भी ले सकते है।
हम आशा करते है कि आपको हमारी यह पोस्ट पसंद आई होगी आपके सुजाव और सवाल हमे कमेंट करके जरूर बताइये।
Disqus Comments