Saturday, February 8, 2020

Amazing benefits of cinnamon in Hindi | दालचीनी के फायदे हिंदी में

Cinnamon in hindi
Cinnamon in Hindi

हैलो दोस्तों!!
स्वागत है आपका हमारी आज की इस पोस्ट में जिसमें हम आपको सिनेमन के बारे में पूरी जानकारी देंगे। सिनेमन के बारे में जानकारी देने से पहले हम आपको यह बताना चाहते हैं कि सिनेमन आखिर है क्या?  सिनेमन को हिंदी में दालचीनी कहा जाता है और
सिनेमन को एक तरह का spice यानी कि मसाला माना जाता है। अब आप सोच रहे होंगे की सिनेमन अगर मसाला है, स्पाइस है तो फिर इसे चीनी क्यों कहा जाता है? दोस्तों सिनेमन को दालचीनी इसलिए कहा जाता है क्योंकि यह स्वाद में तीखी नहीं बल्कि मीठी होती है। दालचीनी का उपयोग कई तरह की बीमारियों को ठीक करने में होता है, दालचीनी के कई फायदे है व कुछ नुकसान भी। इसका उपयोग विभिन्न तरह के व्यंजनों का स्वाद और पौष्टिकता बढ़ाने के लिए किया जाता है।
आज इस पोस्ट में हम आपको सिनेमन यानी कि दालचीनी के बारे में हर छोटी-बड़ी जानकारी देने की कोशिश करेंगे। इस पोस्ट में हम आपको बताएंगे कि:--
*सिनेमन क्या है?
*इसमें क्या गुण होते हैं?
*इसकी प्रकृति कैसी है?
*सिनेमन का उपयोग करने से क्या लाभ होते हैं?
* क्या नुकसान होते हैं?
* इसका सेवन किस प्रकार करना चाहिए? आदि।
आइए दोस्तों सीखने व सिखाने के हमारे इस सफर को शुरू करते हैं। सबसे पहले जानते हैं कि सिनेमन अर्थ क्या है?

What is Cinnamon in hindi meaning?

Cinnamon को हिंदी में कहते दालचीनी है। और इसका वैज्ञानिक सिनॅमोमम झेलॅनिकम नाम  है।

यह भी पढ़े 

सिनेमन क्या है?

दोस्तों सिनेमन एक तरह की औषधि है जिसे विभिन्न तरह की बीमारियों को ठीक करने में इस्तेमाल किया जाता है। सिनेमन का वैज्ञानिक नाम है सिनमोमाम झेलनिकम, इसे संस्कृत में त्वाक कहा जाता है और हिंदी भाषा में दालचीनी। सिनेमन इतना प्रभावकारी है इसका अंदाजा आप इस बात से लगा सकते हैं कि सिनेमन के पेड़ से ही बहुत खुशबू आती है और न केवल सिनेमन बल्कि सिनेमन के पेड़ पर लगने वाले पत्ते भी मसाले का काम करते हैं जिसे हम आम भाषा में तेजपत्ता भी कहते है। इतना ज्यादा प्रभावकारी है सिनेमन। हालांकि सिनेमन जो औषधि होती है वह इस पेड़ की छाल होती है। हमारी प्राचीन संस्कृति में खानपान में दालचीनी का विशेष स्थान था, लेकिन खानपान के बदलते तौर-तरीके ने दालचीनी को जैसे भुला ही दिया। मगर विदेशों में दालचीनी को अब अपनाया जा रहा है। इसके अनेकानेक गुण एवं फायदे हैं, जिनके बारे में जानकर आप सिनेमन का उपयोग करने से खुद को रोक नहीं पाएंगे।

Cinnamon में क्या क्या गुण होते है?

सिनेमन में बहुत सारे पोषक तत्व होते हैं जिनकी वजह से यह इतना गुणकारी है। सिनेमन में माइक्रोन्यूट्रिएंट्स जैसे कि सोडियम, पोटेशियम, फास्फोरस, शरीर के लिए जरूरी प्रोटीन कार्बोहाइड्रेट भी उचित मात्रा में होते हैं। इसके अलावा इसमें नियासिन तथा विटामिन ए और विटामिन सी पाया जाता है। आइए जानते हैं कि सिनेमन के फायदे क्या क्या है।

Cinnamon के फायदे

दोस्तों सिनेमन का सबसे बड़ा फायदा यह है कि यह मधुमेह यानी कि डायबिटीज पेशेंट के लिए एक तरह से वरदान है क्योंकि यह ब्लड शुगर लेवल को कम करता है। इसीलिए इसे इंसुलिन भी कहा जाता है क्योंकि यह ब्लड सुगर को बहुत तेजी से काम करता है।

डायबिटीज में

दोस्तों जैसा कि हमने आपको पहले भी बताया की सिनेमन डायबिटीज को खत्म करने में काफी कारगर साबित होता है। डायबिटीज दो प्रकार की होती है टाइप वन एवं टाइप टू। सिनेमन का उपयोग टाइप टू डायबिटीज को ठीक करने के लिए किया जाता है। क्योंकि बाजार की महंगी दवाइयों से ज्यादा लाभ सिनेमन के इस्तेमाल से आता है। और एक खास बात यह भी है की ब्लड शुगर को कम करने के लिए दालचीनी का उपयोग यानी कि जो खुद एक चीनी है वह ब्लड शुगर को कम करती है।

मोटापा कम करने के लिए

अगर आप अपने मोटापे को कम करने के लिए जद्दोजहद कर रहे हैं और आपको किसी भी नुस्खे से लाभ नहीं हुआ किसी भी व्यायाम से लाभ नहीं हुआ तो आप एक बार दालचीनी का उपयोग करके देखिए। हम दावे के साथ कह सकते हैं कि आप निराश नहीं होंगे।
एक गिलास पानी मैं एक चुटकी दालचीनी डालकर उसे उबाले तथा ठंडा होने पर उसे छान लें फिर उसमें एक चम्मच शहद मिलाकर पिए। एक बार के इस्तेमाल से आपको ज्यादा फर्क नहीं दिखेगा लेकिन अगर आपने इसे लगातार 10 से 15 दिन किया तो अवश्य ही आपको अच्छा परिणाम मिलेगा।

सर्दी खांसी में

दोस्तों सर्दियों में खांसी जुखाम होना बहुत ही आम बात है। लेकिन हर बार जब खांसी जुखाम होती है उस पर बाजार की एलोपैथिक दवाई लेने की बजाए दालचीनी का उपयोग करना चाहिए क्योंकि इसके कोई साइड इफेक्ट नहीं होते और दालचीनी से सर्दी खांसी जुखाम सब ठीक हो जाते हैं।
शहद में थोड़ी सी दालचीनी मिलाकर चाटने से खांसी में आराम मिलता है व चाय में थोड़ी सी दालचीनी डालकर उबालने से सर्दी जुखाम खुल जाता है।

दालचीनी दूध है स्वास्थ्यवर्धक

एक गिलास दूध हमें आधा चम्मच दालचीनी डालकर उबालने से यह एक टॉनिक का काम करता है। इसके नियमित सेवन से अब की हड्डियां मजबूत होती है शरीर में मांस बनता है तथा चेहरे व बाल में चमक आती है। इसके अलावा यह मस्तिष्क को भी पोषण देता है।

पाचन को सुधारता है

दोस्तों दालचीनी का उपयोग पाचन को ठीक करने में भी किया जाता है। अगर आप खराब डाइजेशन कब्ज गैस से परेशान है तो आप भोजन करने के बाद दालचीनी और काली मिर्च के पाउडर को शहद के साथ ले। इससे आपका पाचन ठीक हो जाएगा।
तो दोस्तों यह थे दालचीनी के कुछ फायदे जो हमने आपको बताएं। लेकिन यही नहीं दोस्तों दालचीनी के और भी कई फायदे हैं जैसे कि पुरुषों में वीर्य की समस्या, महिलाओं में मासिक धर्म के दौरान होने वाली पीड़ा, अल्सर, आदि भी दालचीनी के उपयोग से ठीक होते हैं। लेकिन दोस्तों दालचीनी के गलत उपयोग से या  इसके अधिक सेवन से आपको कुछ नुकसान भी हो सकते हैं।

cinnamon के नुकसान

Cinnamon in Hindi name

  1. दोस्तो दालचीनी एक गर्म प्रकृति की औषधि है जिसे अगर अधिक मात्रा में सेवन किया जाए तो पेट में जलन भी करती है। इसलिए के उपयोग में सावधानी बरतनी चाहिए और जितना हो सके गर्मियों में इसके सेवन से बचना चाहिए।
  2. गर्भवती स्त्रियों को इसका भूलकर भी सेवन नहीं करना चाहिए क्योंकि इससे गर्भ गिरने का डर होता है और समय से पहले डिलीवरी होने की भी शंका रहती है।
  3. जिन्हें लीवर से संबंधित रोग है या जिनका लीवर कमजोर है उन्हें भी सिनेमन का ज्यादा इस्तेमाल नहीं करना चाहिए।
  4. दालचीनी के उपयोग से खून पतला होता है इसलिए अगर आपको खून में कोई दिक्कत है या खून से संबंधित कोई बीमारी है तो आप इसका सेवन ना करें।

निष्कर्ष

दोस्तों आज की इस पोस्ट में हमने दालचीनी के बारे में बहुत कुछ सीखा। इस पोस्ट में हमने जाना कि दालचीनी मधुमेह के रोगियों के लिए बहुत ही ज्यादा लाभदायक है, इसके अलावा छोटी मोटी बीमारियां जैसे कि सर्दी जुखाम, पाचन संबंधित बीमारियां, शरीर को बलवान बनाने के लिए दालचीनी का उपयोग किया जाता है। लेकिन अगर इसके उपयोग में सावधानी न रखी जाए तो यह फायदे के बजाय शरीर को नुकसान भी पहुंचाती है। गर्मियों में इसके उपयोग से बचना चाहिए क्योंकि यह गर्म प्रकृति की होती है और ज्यादा इस्तेमाल करने से पेट में जलन करती है। आशा करते हैं कि आज की हमारी यह पोस्ट सिनेमन इन हिंदी आपके लिए मददगार साबित हुई होगी। आपको हमारी यह पोस्ट कैसी लगी यह आप हमें नीचे दिए कमेंट बॉक्स में लिखकर जरूर बताएं और इस पोस्ट से जुड़ा अगर आपका कोई सवाल है तो वह भी आप हमें नीचे दिए कमेंट बॉक्स में पूछ सकते हैं। आपके सुझाव को हम स्वागत करते हैं ताकि इस पोस्ट को हम आपके लिए और भी बेहतर बना सकें। मिलते हैं दोस्तों हमारी अगली पोस्ट में हमेशा की तरह हेल्थ से जुड़ी टिप्स के साथ।

Disqus Comments